Kavita Kosh

Get Kavita Kosh, Poems, Hasya Kavita, Indian Poets, Kabir, HarivanshRai Bachchan, Suryakant Tripathi Nirala, Premchand, Gulzar, Novels,Stories in Hindi

Harivansh Rai Bachchan Poems | हरिवंशराय बच्चन जी की कविताएं 

Harivansh Rai Bachchan poems

Harivansh Rai Bachchan Poems : भारत के पसंदीदा कवियों में शुमार श्री “हरिवंश राय बच्चन” का जन्म सं 27 नवम्बर 1907 को भारत के इलाहाबाद, जिला उत्तर प्रदेश में हुआ था | अवधि और हिंदी उनकी प्रमुख भाषा थी | वह भारत के उन चुनिंदा एवं लोकप्रिय कवियों में शुमार थे जिसने भारतीय काव्य को एक नयी पहचान दी |

हरिवंशराय बच्चन ने अपनी कॉलेज की पढाई इलाहाबाद यूनिवर्सिटी एवं बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में पूरी करी | हरिवंशराय बच्चन की दो शादियां हुई | जब वह 19 वर्ष के थे तब ही उनका विवाह श्यामा से हो गया | हालाँकि शादी के 10 वर्ष के पश्चात् शयामा का दमा रोग से देहांत हो गया | उस वक़्त उनकी पत्नी की उम्र महज 24 वर्ष थी | वर्ष 1936 में उनकी शादी तेज़ बच्चन से हुई | उनके दो पुत्र हुए, एक का नाम अजिताभ बच्चन एवं दूसरे का नाम अमिताभ बच्चन था | अमिताभ बच्चन हिंदी जगत के एक प्रसिद्ध अभिनेता है |

Harivansh Rai Bachchan Poems & Kavita

Harivansh Rai Bachchan Poems : 1969 में भारतीय सरकार ने उन्हें हिंदी साहित्य जगत में उनके बेहतरीन योगदान के लिए “साहित्य अकादमी” पुरूस्कार से सम्मानित किया | वर्ष 1976 में उन्हें भारत सरकार ने “पद्म भूषण ” से सम्मानित किया |

18 जनवरी 2003 , को हरिवंश राय बच्चन ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया | आज वह भले ही इस दुनिया में नहीं हैं पर वह आज भी अपनी कविताओं और रचनाओं के जरिये हमारे दिलों में जिन्दा हैं |

Harivansh Rai Bachchan Poems : अपने जीवनकाल में उन्होंने हिंदी जगत को कई बेहतरीन कृतियाँ दी | उनकी उत्कर्ष कृतियों में मधुकलश, मिलन यामिनी, प्रणय पत्रिका, मधुशाला, मधुबाला, निशा निमन्त्रण, दो चट्टानें प्रमुख है |

कविता कोष में हम अपने पाठकों के लिए श्री हरिवंश राय बच्चन जी की कविताओं का संग्रह लेकर आये हैं | उम्मीद है की आपको हरिवंश राय जी की कविताएं बेहद पसंद आएँगी | अगर आपके पास उनकी कुछ और कविताएं हैं तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं | हम उनकी हर कविता को पाठकों तक पहुंचाने का भरपूर प्रयास करेंगे |

हरिवंशराय बच्चन के कविता संग्रह

Kavita Kosh © 2018 Frontier Theme